ad

Breaking News

Sugar ke Lakshan aur upchaar hindi mai [full steps]

Sugar ke Lakshan aur upchaar

शुगर यह बीमारी बहुत नामुराद है। एक बार लग जाए तो जिंदगी भर  जाने का नाम नहीं लेती। मरीज दिन पर दिन कमजोर हो जाता है। ओर चेहरे का रंग पीला पड जाता है। दिल में घबराहट होने लगती है। कभी_कभी बलड प्रेशर भी हो जाता है। शुगर के मरीज को पकवान मीठा गुड़ शककर वगैरह बंद कर देना चाहिए। ओर फिक्र व चिंता से दूर रहें। सुबह उठकर घूमने ओर थोड़ा दौड़ने से इस बीमारी को रोक सकते हैं परहेज चावल आलू उड़द की दाल का इस्तेमाल न करें। मरीज को पेशाब बार बार आता है। कभी कभी मुँह अपने आप मीठा हो जाता है। हलक से ठंडी साँस का निकलना मालूम होता है! कमर दर्द मरदाना कमजोरी ओर कभी कभी हलक सूख जाता है। मरीज जहाँ पेशाब करता है वहां चीटीयां इकट्ठा हो जाती हैं। नजदीक की नज़र कमजोर हो जाती है। पेशाब मैं शुगर बिलकुल बंद हो जाए तो मरीज को चक्कर आने या दिल घबराने लगता है। एेसी हालत में मीठी चीज़ खा लेने से यह शिकायत दूर हो जाती है।







शुगर का टेस्ट करना


शुगर टेस्ट करना बैनडिकट सोलयूसन थोड़ा सा टेस्ट ट्यूब में डाल दें। स्परीट की आग पर गरम करें। जब दवा उबलने लगे तो इसमें छ बूँद पेशाब डाल दें पेशाब सुबह का होना चाहिए। फिर आग पर रखकर दोबारा जोश आवे तो  देखें,अगर पेशाब का रंग बदलकर गहरा हरा पीला हो जाए तो शुगर की निशानी है। अगर रंग न बदले तो शुगर नहीं है। कई लोगों के पेशाब मैं चर्बी भी आ जाती हैं। ओर फोसफेट भी। पेशाब को टेस्ट ट्यूब में डाल कर स्पीरिट की आग पर गरम करें और अगर पेशाब दूधिया हो जाए तो चर्बी की निशानी है।





शुगर का परहेज


 ऐसे मरीज को चिकनी खुराक ओर नमक बंद कर देना चाहिए। मरीज चावल बिलकुल न खाए।ऐसे मरीज के हाथ पैरों में सूजन आ जाती हैं। पेशाब को साफ शीशे में रख दें। दो घंटे बाद बादल से नजर आए तो यह फोसफेट की निशानी है। ऐसे मरीज को ज्यादा तकलीफ नहीं होती। कई छोटे बच्चों के पेशाब मैं भी फोसफेट आने लगती हैं। ये जहां पेशाब करते हैं। वहां सफेदी सी जम जाती है। 

Sugar free




नुस्खा शुगर का


$नुस्खा शुगर जामुन के हरे पत्ते तीन बारीक पीसकर सुबह ताजे पानी से दस दिन खाए शुगर रूक जाएगी।१


1_ बेल पत्थर के पेड़ के पाँच पत्ते सुबह के वक्त बारीक करके एक महीना खाए शुगर को आराम करेगा

2_गुडमार बूटि 30 ग्राम

हल्दी 12 ग्राम

बहेडा का छिलका 25 ग्राम

जामुन की गुठली 25 ग्राम सबको मिलाकर बारीक करके ३ ग्राम सुबह शाम ताजे पानी से 15 दिन खाए

No comments